Karauli: चंबल नदी में पानी पीते बालक को मगरमच्छ ने निगला, four घंटे बाद मिले क्षत-विक्षत अंग | karauli – Information in Hindi


करौली जिले के सपोटरा उपखंड में सोमवार को हुए दर्दनाक हादसे में चंबल नदी में मगरमच्छ ने एक बालक को अपना शिकार बना लिया. यह बालक पानी पीने के लिए चंबल नदी पर गया था.

करौली. जिले के सपोटरा उपखंड में सोमवार को हुए दर्दनाक हादसे में चंबल नदी में एक मगरमच्छ (Crocodile) ने बालक को अपना शिकार बना लिया. यह बालक पानी पीने के लिए चंबल नदी पर गया था. हादसे के बाद वहां ग्रामीणों का जमवाड़ा लग गया. करीब four घंटे की मशक्कत के बाद गोताखोरों को बालक के क्षत-विक्षत अंग मिले. इस घटना से ग्रामीण सकते हैं में हैं.

घुसई गांव के पास दोपहर में हुई घटना
जानकारी के अनुसार घटना सपोटरा इलाके के घुसई गांव के पास दोपहर में हुई. घड़ियाल सेंचुरी के कर्मचारी सुरेंद्र जाट ने बताया कि पिंटू बैरवा पुत्र राम सिंह बैरवा दोपहर में चंबल किनारे बकरी चरा रहा था. इस दौरान प्यास लगने पर वह चंबल नदी में पानी पीने चला गया. पानी पीते समय मगरमच्छ ने पिंटू को पकड़ लिया. पिंटू संभल पाता उससे पहले मगरमच्छ उसे गहरे पानी में खींच ले गया. मगरमच्छ द्वारा जीवित बालक को निवाला बनाने की घटना को वहां स्थित अन्य लोगों ने देखा तो उन्होंने हो हल्ला किया. लेकिन मगरमच्छ के डर से कोई नदी में नहीं उतरा.

Rajasthan: गहलोत सरकार ने 824 RPS अधिकारियों को दिया पदोन्नति का तोहफा, आदेश जारीfour घंटे बाद नदी में बालक के शव के क्षत विक्षत अवशेष मिले

घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण एकत्र हो गये. ग्रामीणों ने वन विभाग, गोताखोरों और पुलिस-प्रशासन को इसकी सूचना दी. सूचना पर वन विभाग और पुलिस-प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे. बाद में उन्होंने स्थानीय गोताखोरों की मदद से बालक की चंबल नदी में तलाश शुरू करवाई. घटना के करीब four घंटे बाद नदी में बालक के शव के क्षत विक्षत अवशेष मिले. बालक के क्षत विक्षत अंग देखकर ग्रामीणों के पैरों से जमीन खिसक गई और परिजनों में कोहराम मच गय. बाद में पुलिस ने पंचनामा की कार्रवाई कर बालक के अंगों को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया. घटना के बाद बालक के गांव में मातम पसर हुआ है.





Supply hyperlink

Recommended For You

About the Author: newsindianow

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *