COVID-19 Replace: राजस्थान में संक्रमितों का आकड़ा 1 लाख के पार, 24 घंटे में 1669 नए केस | jaipur – Information in Hindi


राजस्थान में पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 1669 नए पॉजिटिव (COVID-19) केस सामने आए हैं. 24 घंटे में 14 लोगों की मौत भी हो गई है. 

जयपुर. राजस्थान में कोरोना संक्रमितों (COVID-19) का आंकड़ा 1 लाख के पार पहुंच गया है. प्रदेश में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 100705 हो गई है. अभी रिकॉर्ड 930 पॉजिटिव और नए केस आये हैं. शनिवार दिन भर में सर्वाधिक रिकॉर्ड 1669 पॉजिटिव केस सामने आये. कोरोना से अब तक प्रदेश में 1221 लोगों की मौत हो चुकी है. शनिवार को 14 मौत (Demise) दर्ज की गई है जिसमें जयपुर में 2, अजमेर में 1, बाड़मेर में 1, बीकानेर में 1, बूंदी में 1, चूरू में 1, जैसलमेर में 1, झालवाड़ में 1, झुंझुनूं में 1, जोधपुर में 1, प्रतापगढ़ में 1, सीकर में 1 और उदयपुर में 1 शख्स की जान गई है.

प्रदेश में अब तक कुल 2630771 सैम्पल लिए गए हैं. राज्य में 82902 केस पॉजिटिव से नेगेटिव हुए और 81416 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है. प्रदेश में अब 16582 एक्टिव केस हैं. शनिवार को 932 लोग रिकवर हुए और 813 को डिस्चार्ज किया गया है. प्रदेश में अब प्रवासी की पॉजिटिव संख्या 9652 हो गई है.

तर्कता बरतने के निर्देश

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कोरोना के साथ ही प्रदेश में वर्षा से प्रभावित स्थानों पर जलजनित एवं मच्छरजनित बीमारियों (डेंगू, मलेरिया व चिकनगुनिया) की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए स्वाथ्य विभाग के अधिकारियों को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं. शर्मा ने मच्छरों की रोकथाम के लिए एन्टीलार्वल गतिविधिपयों पर अधिक ध्यान देने और मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए पानी के ठहराव वाले स्थानों पर एमएलओ डलवाने के निर्देश दिए. उन्होंने पीने के पानी के टांकों में टेमीफोस डलवाने की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए हैं.ये भी पढ़ें: राजूदास को मिला मंहत नरेंद्र गिरी का साथ, महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे से इस्तीफे की मांग

चिकित्सा मंत्री ने चिकित्सा अधिकारियों को स्प्रे का सुपरविजन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने बताया कि मलेरिया पीएफ रोगी एवं डेंगू रोगी पाए जाने पर पायरेथ्रम का फोकल स्प्रे रोगी एवं आसपास के 50 घरों में किया जाएगा. सभी प्रभावित गांवों में शत-प्रतिशत सर्वेलेंस कर नियमित मॉनिटरिंग की जाएगी. शर्मा ने बुखार पीड़ित रोगियों की त्वरित जांच और उपचार करने के साथ ही आउटब्रेक की स्थिति में आवश्यक दवाईयां एवं चिकित्सकीय दल (रैपिड रेस्पोंस टीम) आदि की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कहा है. उन्होंने चिकित्सा संस्थानों पर चिकित्सकों और पैरामेडिकल नर्सिंग स्टॉफ का मुख्यालय पर ठहराव सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने सभी पेयजल स्रोतों की क्लोरोस्कोप से नियमित जांच करने और जलदाय विभाग तथा स्थानीय निकायों के समन्वय से व संयुक्त टीम का गठन कर पानी के नमूनीकरण का कार्य अधिक से अधिक कर शुद्ध पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं.





Supply hyperlink

Recommended For You

About the Author: newsindianow

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *