योगी आदित्यनाथ के विकास कार्यों की वजह से बुंदेलखंड नहीं रहेगा प्यासा, ऐसी है तैयारी


लखनऊ। विकास की बाट जोह रहे बुंदेलखंड को सरकारी उपेक्षा से उबारने का काम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकार गठन के साथ ही शुरू कर दिया था। बुंदेलखंड के भीतर चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा करने के साथ सीएम योगी की नजर यहां हमेशा बनी रहती है। ऐसे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बुंदेलखंड की प्यास बुझाने के लिए वर्तमान राज्य सरकार लगातार काम कर रही है। यह हमारा संकल्प है कि हर खेत तक पानी पहुंचे, हर व्यक्ति को शुद्ध पेयजल मुहैया हो। ऐसे में परियोजनाओं का समय से पूरा होना बहुत ज़रूरी है। सिंचाई और पेयजल की परियोजनाओं को पूर्ण प्राथमिकता दी जाए।

Hathras Police Yogi

मुख्यमंत्री बुधवार को झांसी मण्डल (जनपद झांसी, जालौन और ललितपुर) के विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि एरच बहुउद्देश्यीय बांध परियोजना झाँसी को लेकर कहा कि जांच की वजह से इसमें पहले ही बहुत देर हो चुकी है। अब और देर न की जाए। जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई तय करें लेकिन परियोजना का काम भी शीघ्रता से पूरा करें। इसी तरह ललितपुर में कचनौदा बांध, भावनी बांध, बंडई बांध की परियोजनाओं के अलावा रोहिणी जामनी और सजनम नहर प्रणालियों पर पुनर्स्थापना का काम अगर हम समय से पूरा कर दें, तो अगले दो वर्ष में झांसी और ललितपुर के हर खेत तक पर्याप्त पानी उपलब्ध होगा।

cm yogi 4

इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रेन वॉटर हार्वेस्टिंग को प्रोत्साहन देते हुए जल संचय को बढ़ावा दिया जाए। तालाबों को पुनर्जीवन भूगर्भ जल स्तर को बेहतर करने में सहायक तो होगा ही, स्थानीय लोगों के पर्यटन और मनोरंजन के लिए नवीन स्थान भी तैयार होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अमृत योजना, झांसी पेयजल पुनर्गठन योजना, घर-घर नल और रनगुंवा पेयजल परियोजना जैसे प्रयास बुंदेलखंड के लिए अति महत्वपूर्ण हैं। शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के लिए इन सभी कार्यों का समयबद्ध और गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूरा होना बहुत ज़रूरी है। इस संबंध में धन की कमी नहीं होने दी जाएगी।

CM Yogi Adityanath

स्मार्ट सिटी परियोजना की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे जुड़े काम अब जमीन पर दिखने चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस योजना को और तेज किये जाने की ज़रूरत है। इस संबंध में प्रदेश स्तर पर समीक्षा की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लगातार प्रयासों से अवैध खनन और अवैध वसूली पर प्रभावी रोक लगी है, इसे और सख्ती से लागू किया जाए। उन्होंने कहा कि ललितपुर और झांसी में खनन प्रक्रिया को नियमानुसार गति दी जाए। कोई भी प्रस्ताव लंबित न रहे। खनन विभाग लगातार मॉनिटरिंग करता रहे, खनन पट्टाधारियों की समस्याओं का त्वरित समाधान भी सुनिश्चित किया जाए।

CM Yogi Adityanath

मुख्यमंत्री ने कहा कि बुंदेलखंड में प्रस्तावित डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर, न केवल झांसी मण्डल और उत्तर प्रदेश बल्कि, संपूर्ण भारत के लिए अत्यंत उपयोगी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत को रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प लिया है, यह परियोजना इस संकल्पपूर्ति का महत्वपूर्ण आधार है। यह लाखों नवीन रोजगार सृजन का कॉरिडोर तो है ही, वैश्विक पटल पर भारत के स्वर्णिम भविष्य का पथ प्रशस्त करने वाला भी है। कोरोना से लड़ाई के बीच लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए मुख्यमंत्री जी ने मण्डलवार विकास कार्यों की समीक्षा भी की।



Supply hyperlink

Recommended For You

About the Author: newsindianow

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *