एनआईए के हत्थे चढ़ा एक पाकिस्तानी ISI जासूस, जानिए कैसे?


नई दिल्ली। ISI को सूचना भेजने के आरोप में एक आदमी को एनआईए (NIA) ने गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि भारतीय सेना (INDIAN ARMY) से जुड़ी गोपनीय जानाकरियां इसके द्वारा पाकिस्तान (PAKISTAN) की खुफिया एजेंसी ISI को भेजी जा रही थी। एनआईए की मानें तो पाकिस्तानी जासूस गितेली इमरान (Giteli Imran) को गिरफ्तार किया गया है। इमरान गुजरात (GUJARAT) के गोधरा (GODHARA) का रहने वाला है। एनआईए ने इमरान की गिरफ्तारी पर कहा कि वह पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) के लिए काम करता है और जासूसी में लिप्त है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने सोमवार को विशाखापत्तनम जासूसी मामले में यह अहम गिरफ्तारी की है।

NIA

एक न्यूज एजेंसी से प्राप्त सूचना की मानें तो एनआईए ने बताया कि यह मामला एक अंतरराष्ट्रीय जासूसी रैकेट से संबंधित है जिसमें पाकिस्तान के जासूसों ने भारत में बड़े स्तर पर एजेंटों की भर्ती की है। ये एजेंट भारतीय नौसेना जहाजों और पनडुब्बियों की आवाजाही और अन्य रक्षा प्रतिष्ठानों के लोकेशन के बारे में संवेदनशील और वर्गीकृत जानकारी इकट्ठा कर रहे थे। यहां से इकट्ठा किए गए जानकारी को ये पाकिस्तान भेज देते थे। एनआईए इस मामले में आगे की जांच कर रही है जल्द ही बाकी एजेंटों की तलाश भी पूरी हो जाने की उम्मीद है।

  • वहीं एनआईए के सूत्रों का कहना है कि गुजरात के गोधरा निवासी 37 वर्षीय गितेली इमरान को सोमवार को गिरफ्तार किया गया। उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं, गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम और सरकारी गोपनीयता अधिनियम के तहत मामला दर्ज है। सूत्र ने बताया कि इमरान जासूसी गतिविधियों में लिप्त था और पाकिस्तान की आईएसआई के लिए काम कर रहा था।





Supply hyperlink

Recommended For You

About the Author: newsindianow

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *